Latest Mohabbat shayari in hindi

मोहब्बत शायरी - mohabbat shayari - मोहब्बत हिंदी शायरी - mohabbat hindi shayari - हिन्द शायरी - hindi shayari - लव हिंदी शायरी ग़ज़ल - love hindi shayari ghazal - मोहब्बत ग़ज़ल - mohabbat ghazal - मोहब्बत भरी ग़ज़ल - mohabbat bhari ghazal - मोहब्बत कि शायरी - mohabbat ki shayari - लव शायरी - love shayari - रोमांटिक शायरी -romantic shayari - mohabbat shayari in hindi - मोहब्बत शायरी इन हिंदी।


Mohabbat shayari - mohabbat ki shayari - mohabbat shayari in hindi।

मुहब्बत से कभी तो खूबसूरत दिल बनाएंगे..
मुहब्बत जब निखारेगी गुलों से हो ही जाएंगे..!!

मुहब्बत की बहारों से अगर रिश्ता बनाएंगे..
मुहब्बत के नए गुलशन तभी तो हम खिलाएंगे..!!

निखर जाएं संवर जाएं मुहब्बत की बहारों से..
खिलें महकेंगे फिर ही दिल ये फिर ही मुस्कुराएंगे..!!

गुलों को भी खुदा लाया हमें अहसास देने को..
गुलों सा दिल बनाएंगे गुलों जैसे निभाएंगे..!!

मुहब्बत की निगाहों से गुज़र के इश्क दिल होगा..
मुकम्मल इश्क जब होगा खुदा में जब समाएंगे..!!

खुदा से जो हमारा है कोई तो खास रिश्ता है..
कभी आगोश में उसकी ये दिल आराम पाएंगे..!!

सभी में नूर है वो ही खुदा का वो ही जलवा है..
यहां सब अपने ही हैं फर्क सब कब हम मिटाएंगे..!!

खुदा ही पहला वो आशिक  बना महबूब जो सबका..
खुदा से दिल लगाएं जो खुदा के हो ही जाएंगे..!!

सितारे आसमानों के ज़मीं पर आ ही जाते हैं..
हमारे रास्ते रोशन वो कामिल खुद बनाएंगे..!!

हो अपना गैर यां कोई  मुहब्बत से लगेगा "दीप"..
जो देखें नूर हम अपना उसे अपना बताएंगे..!!




Post a Comment

0 Comments