Agnimukh churna benefits in hindi: उपयोग, कीमत, खुराक, सामग्री, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Agnimukh churna benefits in hindi – दोस्तों अपने कभी ना कभी अग्निमुख चूर्ण (Agnimukh churna Tablet ) का नाम तो जरूर सुना होगा आप मे से बहुत लोगो ने इसका Use भी किया होगा और बहुत सारे लोग इसका यूज़ भी करते है। (Agnimukh churna Uses in hindi)

तो दोस्तों आज मे आपको Agnimukh churna Tablet uses in hindi के बारे मे पूरी जानकारी देने वाला हूं अग्निमुख चूर्ण क्या होती है, Agnimukh churna कैसे काम करती है, Agnimukh churna के लाभ क्या है। अग्निमुख चूर्ण कैसे यूज़ करे।

अग्निमुख चूर्ण के side effect क्या-क्या है अग्निमुख चूर्ण का प्रयोग किन किन रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है और अग्निमुख चूर्ण का इस्तेमाल कैसे करें इत्यादि। (Agnimukh churna benefits in hindi)

अगर आप भी Meftal Spas Tablet Uses in hindi के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी चाहते है तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े।

What is Agnimukh churna in Hindi – अग्निमुख चूर्ण क्या है?

Agnimukh churna (अग्निमुख चूर्ण) एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि है। इसे आठ दिव्य औषधियों मिलकर बनाया गया है इसमें हींग, पिप्पली, वच, सोंठ, हर्रे, अजवाईन, कूठ और चित्रकमूल की छाल है। अग्निमुख चूर्ण के सेवन से भूख बढ़ती है और पाचन तंत्र ठीक होता है। अग्निमुख चूर्ण एक गर्म प्रकृति की दवाई है जो शरीर में पित्त बढ़ाती है और कफ को कम करती है गर्म तासीर होने के कारण यह औषधि शरीर में बात को वात करती है और गैस से रात दिलाती है।

अग्निमुख चूर्ण का मुख्य रूप से उपयोग अजीर्ण की चिकित्सा के लिए किया जाता है। इसके अलावा अग्निमुख चूर्ण मलावरोध, उदावर्त, प्लीहा रोग, बादी बवासीर (अर्श रोग), पाशर्वशूल,पेट दर्द, और गुल्म रोग आदि में भी लाभदायक होता है इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

Agnimukh churna price – अग्निमुख चूर्ण की कीमत।

Agnimukh churna के 60 gram पैकेजिंग की कीमत ₹,105 है आप इसे अपने नजदीकी मेडिकल स्टोर से भी परचेस कर सकते है नहीं तो आप इसे ऑनलाइन भी परचेस कर सकते है यह दवा आपको आसानी से मार्किट मे मिल जाती है।

TypePriceQuantity
Agnimukh churnaRs, 10560 Gram

Ingridients Of Agnimukh churna – अग्निमुख चूर्ण के मुख्य घटक।

Agnimukh churna में भुनी हुई हींग, बच, पिप्पली , सोंठ , अजवायन, हरीतकी, चित्रक मूल की छाल और कूठ के सक्रिय तत्व मौजूद हैं।

घटकमात्रा
भुनी हुई हींग1 भाग (12 ग्राम)
बच2 भाग (24 ग्राम)
पिप्पली3 भाग (36 ग्राम)
सोंठ4 भाग (48 ग्राम)
अजवायन5 भाग (60 ग्राम)
हरीतकी (हरड़)6 भाग (72 ग्राम)
चित्रक मूल की छाल7 भाग (84 ग्राम)
कूठ8 भाग (96 ग्राम)

How Agnimukh churna works – अग्निमुख चूर्ण कैसे काम करती है?

अग्निमुख चूर्ण सोंठ, मारीच, जीरक,मेन्थॉल आदि का मिश्रित मिश्रण है। यह जो पेटदर्द या अपच जैसी बीमारी में बेहद मददगार होता है क्योंकि यह पेट के अंदर किसी भी प्रकार क़ी जलन या एसिडिक को रोकने में मदद करके काम करता है।

Agnimukh churna benefits in Hindi – अग्निमुख चूर्ण के फायदे।

  • अग्निमुख चूर्ण के कुछ फायदे निचे दिए गये है।
  • अग्निमुख चूर्ण इन बिमारियों के इलाज में काम आती है।
  • अग्निमुख चूर्ण को अग्निमांद्य्य, अजीर्ण, अपच तथा अफारा इत्यादि में मुख्य औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है ।
  • अग्निमुख चूर्ण गैस एवं कब्ज को दूर करने में सहायक है।
  • अग्निमुख चूर्ण भूख ना लगना जैसी समस्या एवं पेट में भारीपन बने रहना जैसी समस्या में उपयोगी है।
  • अग्निमुख चूर्ण से आम दोष दूर होता है।
  • अग्निमुख चूर्ण कफ को दूर करता है इसकी तासीर गर्म होनें के कारण यह पित्त की वृद्धि करता है ।
  • अग्निमुख चूर्ण फेफड़ों के संक्रमण तथा सांस लेने जैसी समस्याओ मे भी राहत दिलता है ।

Agnimukh churna uses in Hindi – अग्निमुख चूर्ण के उपयोग।

निम्न रोगों के उपचार के लिए अग्निमुख चूर्ण का उपयोग किया जाता है।

  1. कब्ज़
  2. गैस
  3. पेट फूलना
  4. अग्निमांद्य
  5. आम दोष
  6. हिचकी
  7. अपच
  8. अरुचि
  9. कोलि
  10. गुल्म
  11. पेट में भारीपन लगना

Dosage of Agnimukh churna in Hindi – अग्निमुख चूर्ण की सामान्य खुराक।

  • अग्निमुख चूर्ण की खुराक Doctor (डॉक्टर) द्वारा निर्धारित की जाती है। वे व्यक्ति की आय, लिंग, वजन और स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अग्निमुख चूर्ण की मात्रा को बढ़ा या घटा सकते हैं। (Agnimukh churna benefits in hindi)
  • दवा को लेते समय दवा क़ी Expire Date और Tablet के पीछे लिखे दिशा-निर्देशों को जरूर पढ़ें।
  • गर्भावस्था के दौरान मेफ्टल स्पेस टैबलेट के इस्तेमाल से जुड़ी कोई जानकारी नहीं है इसके इस्तमाल पहले डॉक्टर क़ी सलाह अवश्य ले।
  • रोगी की स्थिति या प्रतिक्रिया के आधार पर डॉक्टर (Doctor) इसकी खुराक को बदल देता है।
  • अच्छे परिणाम के लिए दवा को नियमित समय पर ले।
  • डॉक्टर की उचित सलाह के बिना खुराक में बदलाव से बचना चाहिए।

मात्रा एवं सेवन विधि।

Dosage (औषधीय मात्रा)
बच्चे500 मिली ग्राम से 1.5 ग्राम
व्यस्क (Adult)3 से 6 ग्राम
बुजुर्ग2 से 5 ग्राम
Directions (सेवन विधि)
दवा लेने का उचित समय (कब लें?)खाने के बाद
दिन में कितनी बार लें?2 बार, (सुबह और शाम)
अनुपान (किस के साथ लें?)गुनगुने पानी
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें)1 से 3 हफ्ते

Missed Dose – छूटी हुई खुराक:

अगर आप गलती से अग्निमुख चूर्ण की खुराक लेना भूल जाते है तो आप उस खुराक को समय रहते ले सकते है लेकिन दयान रहे अगर आपकी दूसरी खुराक लेने का समय हो गया है तो आपको दोनों खुराको को एक साथ नहीं लेना है।

Overdose – ओवरडोज:

आपको अग्निमुख चूर्ण का ओवरडोज़ नहीं लेना है। यदि आपने अग्निमुख चूर्ण क़ी निर्धारित गोलियों या डोज़ से अधिक लिया है तो आपके शरीर पर इसके हानिकारक प्रभाव पड़ने की संभावना है। ओवरडोज़ की स्थिति में अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र डॉक्टर से सलाह करें।

Agnimukh churna Storage – अग्निमुख चूर्ण को कैसे स्टोर करें?

  • Store करने से पहले tablet के पैकेट (Packet) पर लिखे निर्देशों को पढ़ें।
  • बच्चों और जानवरों से इस दवा को दूर रखे।

Agnimukh churna Side Effects in Hindi | अग्निमुख चूर्ण के दुष्प्रभाव।

वैसे तो अग्निमुख चूर्ण के कोई भी साइड इफेक्ट्स देखने को नहीं मिलते है फिर भी आप इसे निर्धारित खुराक से अधिक ना ले ऐसा करने से आपको इसके हलके बुरे प्रभाब देखने को मिल सकते है।

यदि आप किसी भी साइड इफेक्ट्स का अनुभव करते हैं। और आपके लक्षण लंबे समय तक बने रहते है तो आप अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र में डॉक्टर से संपर्क करें ।

Agnimukh churna Precautions in Hindi – अग्निमुख चूर्ण की सावधानियां हिंदी में।

  • यदि आपको अग्निमुख चूर्ण से एलर्जी (Alergy) है तो आप इसका सेवन न करें।
  • गर्भवती महिलाएं इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर क़ी सलाह अवश्य ले।
  • अग्निमुख चूर्ण को तय खुराक से ज़्यादा ना लें।
  • अग्निमुख चूर्ण को लेते समय शराब का सेवन न करें।
  • अगर आपको कोई ह्रदय या लिवर संबंधी समस्या है तो इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • यदि आप पहले से ही अन्य दवाएं ले रहे है तो आप इसका का यूज़ करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।
  • दवा खरीदते समय ध्यान दें की टैबलेट (Tablet) का पैक पहले खुला ना हो।
  • Agnimukh churna की ओवरडोज स्थिति में आप इसे लेना बंद कर दें और तुरंत नजदीकी चिकित्सा या डॉक्टर से सलाह परामर्श करें।

Conclusion

दोस्तों आशा करता हूं आपको Agnimukh churna benefits in hindi जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी अगर इसके रिलेटेड आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमे comment बॉक्स मे पूछ सकते है जानकारी अच्छी लगने पर शेयर जरूर करें।

Disclaimer

Note:- हमारी वेबसाइट Aksmartsupport.com में विभिन्न चिकित्सा स्थितियों और उनके उपचार से संबंधित सामान्य जानकारी प्रदान करती है।और ऐसी जानकारी केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए प्रदान की जाती है और इसका मतलब डॉक्टर या अन्य योग्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा प्रदान की गई सलाह का विकल्प नहीं है। मरीजों को यहां निहित जानकारी का उपयोग हीथ या फिटनेस समस्या या बीमारी के निदान के लिए नहीं करना चाहिए। निदान और उपचार के बारे में चिकित्सीय सलाह या जानकारी के लिए मरीजों को हमेशा डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श लेना चाहिए।

Leave a Comment