Himalaya Septilin tablet in hindi: फायदे, कीमत, उपयोग, खुराक, सामग्री, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Himalaya Septilin tablet uses in hindi: दोस्तों अपने कभी ना कभी हिमालय सेप्टिलिन (Himalaya Septilin) का नाम तो जरूर सुना होगा आप मे से बहुत लोगो ने इसका Use भी किया होगा और बहुत सारे लोग इसका यूज़ भी करते है।

तो दोस्तों आज मे आपको Himalaya Septilin tablet uses in hindi के बारे मे पूरी जानकारी देने वाला हूं हिमालय सेप्टिलिन क्या है, हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट कैसे काम करती है, हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट के लाभ क्या है। हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट कैसे यूज़ करे। (Septilin tablet in hindi)

Himalaya Septilin tablet के side effect क्या-क्या है हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट का प्रयोग किन किन रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है और हिमालय सेप्टिलिन का इस्तेमाल कैसे करें इत्यादि।

अगर आप भी Himalaya Septilin tablet Uses in hindi के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी चाहते है तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े। (Septilin tablet in Hindi)

Himalaya Septilin tablet in Hindi – हिमालय सेप्टिलिन क्या है?

Himalaya Septilin tablet हिमालया हर्बल हेल्थकेयर द्वारा बनाई गयी एक आयुर्वेदिक दवा है जो शरीर कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है। इसके प्रमुख तत्व हैं- लिकोरिस (यष्टिमधु), टिनोस्पोरा गुलंचा (गुडुची) और इंडियन बडेलियम (गुग्गुलु)। यह सिरप और टेबलेट के रूप में मिलने वाली दवा है जिसका उपयोग गले में खराश, त्वचा के इन्फेक्शन, मूत्र मार्ग का संक्रमण, रेसपिरेटरी इन्फेक्शन, आदि को ठीक करने में मदद करती है और यह हमारे इम्यून सिस्टम को भी स्ट्रांग बनाती है इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह पर किया जाना चाहिए |

Himalaya Septilin tablet price – हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट की कीमत।

अगर बात करें Himalaya Septilin tablet price क़ी तो इसकी 60 tablets का Price ₹,150 है जिसे आप अपने नजदीकी मेडिकल स्टोर से भी खरीद सकते है नहीं तो आप इसे online भी परचेस कर सकते है। (Septilin tablet uses in Hindi)

TypePriceQuantity
Himalaya Septilin tabletRs, 15060 Tablets

Ingridients Of Himalaya Septilin tablet – हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट के मुख्य घटक।

Himalaya Septilin tablet में निम्न घटकों का उपयोग किया जाता है।

  • महारसनादी क्वाथ 30mg
  • गुग्गुलु (Commiphora wightii) 80mg
  • मंजिष्ठा (Rubia cordifolia) 15mg
  • आमलकी (Emblica officinalis) 8mg
  • त्रिकटु (सोंठ + काली मिर्च + पिप्पली) 13mg
  • गुडुची (Tinospora cordifolia) 14mg
  • पुष्कर (Inula racemosa) 13mg
  • यष्टि (Glycyrrhiza glabra) 6mg
  • मंजिष्ठा (Rubia cordifolia) 8.9mg
  • गुग्गुलु (Commiphora wightii) 80mg
  • त्रिकटु (सोंठ + काली मिर्च + पिप्पली) 7.7mg
  • गुडुची (Tinospora cordifolia) 8.3mg
  • यष्टिमधु (Glycyrrhiza glabra) 3.5mg
  • आमलकी (Emblica officinalis) 4.7mg
  • पुष्कर (Inula racemosa) 7.7mg

How Himalaya Septilin tablet works – हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट कैसे काम करती है?

हिमालय सेप्टिलिन टैबलेट हर्बो-खनिज (Herbo-mineral) अवयवों का एक सूत्रीकरण है। यह रोगाणुरोधी गुणों के साथ आता है जो एंटीबॉडी (Antibodies) के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। मुलेठी (यष्टिमधु) इम्यूनोस्टिम्यूलेशन (immunostimulation) के साथ-साथ मैक्रोफेज को भी बढ़ाती है। गुडूची (Guduchi) में एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) और एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) गुण होते हैं जो समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।

Himalaya Septilin tablet benefits in hindi – हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट के फायदे।

हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट का इस्तेमाल नीचे दिए निम्न इलाजों के लिए किया जाता है।

  • हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट एक इम्युनोमोड्यूलेटर (immunomodulator) के रूप में कार्य करता है।
  • Himalaya Septilin tablet ऊपरी और निचले श्वसन पथ के संक्रमण (Infection) के प्रबंधन में मदद करता है।
  • हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट एलर्जी (Allergies) विकारों के मामले में राहत प्रदान करता है।
  • Himalaya Septilin tablet पोस्ट-ऑपरेटिव (post-operative) स्थितियों में शीघ्र वसूली को बढ़ावा देता है।
  • सेप्टिलिन टेबलेट साइनसाइटिस (sinusitis) से लड़ने में मदद करता है।
  • Himalaya Septilin tablet शरीर के इम्यून सिस्टम ( रोग प्रतिरोधक क्षमता) को बेहतर बनाने में मदद करता है।

Himalaya Septilin tablet uses in hindi – हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट के उपयोग।

निम्न रोगों के उपचार के लिए हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट का उपयोग किया जाता है।

  1. खांसी (Cough)
  2. ब्रोंकाइटिस (Bronchitis)
  3. बुखार (seasonal fever)
  4. टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis)
  5. फैरिंजाइटिस (Pharyngitis)
  6. गुर्दे का संक्रमण (kidney infection)
  7. त्वचा संक्रमण (Skin infection)
  8. एलर्जी की प्रतिक्रिया (Allergy reaction)
  9. लैरिंजाइटिस (Lyringitis)
  10. मूत्र मार्ग का संक्रमण
  11. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।
  12. हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट का उपयोग फेफड़े, गले और वायुमार्ग के संक्रमण जैसे टॉन्सिलिटिस, ब्रोंकाइटिस और ग्रसनीशोथके लिए किया जाता है।
  13. हिमालय सेप्टिलिन टेबलेट का उपयोग कान, जोड़ों, आंखों, दांत,और मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज के लिए किया जाता है।
  14. यह संक्रमण के खिलाफ शरीर के प्राकृतिक रक्षा तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  15. सर्जरी और ऑपरेशन के बाद, यह प्रतिरक्षा और जल्दी ठीक होने में मदद करता है।
  16. हिमालय सेप्टिलिन अतिसंवेदनशील व्यक्तियों में संक्रमण की पुनरावृत्ति को रोकता है।
  17. इसका उपयोग संक्रमण-रोधी दवा के सहायक के रूप में या एंटीबायोटिक (antibiotic) प्रतिरोध के मामलों में भी किया जाता है।

Dosage of Septilin tablet in Hindi – सेप्टिलिन टेबलेट की सामान्य खुराक।

  • सेप्टिलिन टेबलेट की खुराक Doctor (डॉक्टर) द्वारा निर्धारित की जाती है। वे व्यक्ति की आय, लिंग, वजन और स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सेप्टिलिन टेबलेट की मात्रा को बढ़ा या घटा सकते हैं। (Septilin tablet uses in hindi)
  • दवा को लेते समय दवा क़ी Expire Date और Tablet के पीछे लिखे दिशा-निर्देशों को जरूर पढ़ें।

Dosage & Directions – मात्रा एवं सेवन विधि

सेप्टीलिन टैबलेटबच्चे1 टैबलेट दो बार
सेप्टीलिन टैबलेटवयस्क2 टैबलेट दो बार
सेप्टीलिन टैबलेटबुजुर्ग2 टैबलेट दो बार
  • Septilin tablet को आपको खाना खाने के बाद लेना है।
  • गुनगुने पानी के साथ आपको इस दवा को लेना है और आपको टेबलेट को तोड़कर या चबाकर नहीं लेना है।
  • गर्भवती महिलाएं Septilin tablet का उपयोग करने से पहले डॉक्टर क़ी सलाह अवश्य ले।
  • रोगी की स्थिति या प्रतिक्रिया के आधार पर डॉक्टर (Doctor) इसकी खुराक को बदल देता है।
  • डॉक्टर की उचित सलाह के बिना खुराक में बदलाव से बचना चाहिए।
  • अच्छे परिणाम के लिए दवा को नियमित समय पर ले।

Missed Dose – छूटी हुई खुराक:

अगर आप गलती से सेप्टिलिन टेबलेट की खुराक लेना भूल जाते है तो आप उस खुराक को समय रहते ले सकते है लेकिन दयान रहे अगर आपकी दूसरी खुराक लेने का समय हो गया है तो आपको दोनों खुराको को एक साथ नहीं लेना है।

Overdose – ओवरडोज:

आपको Septilin tablet का ओवरडोज़ नहीं लेना है। यदि आपने सेप्टिलिन टेबलेट क़ी निर्धारित गोलियों से अधिक लिया है तो आपके शरीर पर इसके हानिकारक प्रभाव पड़ने की संभावना है। ओवरडोज़ की स्थिति में अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र डॉक्टर से सलाह करें।

Septilin tablet Storage – सेप्टिलिन टेबलेट को कैसे स्टोर करें?

  • Store करने से पहले tablet के पैकेट (Packet) पर लिखे निर्देशों को पढ़ें।
  • बच्चों और जानवरों से इस दवा को दूर रखे।

Septilin tablet Side Effects in Hindi | सेप्टिलिन टेबलेट के दुष्प्रभाव।

वैसे तो सेप्टिलिन टेबलेट के कोई भी साइड इफ़ेक्ट देखने को नहीं मिलते हैं लेकिन यदि आप इस दवा का निर्धारित खुराक से अधिक मात्रा में उपयोग करते है तो आपको इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिल सकते है इसलिए आपको दवा का ओवरडोज नहीं लेना है यदि आप किसी भी साइड इफेक्ट्स का अनुभव करते हैं। और आपके लक्षण लंबे समय तक बने रहते है तो आप अपने नजदीकी चिकित्सा केंद्र में डॉक्टर से संपर्क करें ।

Septilin tablet Precautions in Hindi – सेप्टिलिन टेबलेट की सावधानियां हिंदी में।

  1. यदि आपको सेप्टिलिन टेबलेट से एलर्जी (Alergy) है तो आप इस टेबलेट का सेवन न करें।
  2. गर्भवती महिलाएं इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर क़ी सलाह अवश्य ले।
  3. सेप्टिलिन टेबलेट को तय खुराक से ज़्यादा ना लें।
  4. अगर आपको कोई ह्रदय या लिवर संबंधी समस्या है तो इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  5. यदि आप पहले से ही अन्य दवाएं ले रहे है तो आप इसका का यूज़ करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।
  6. दवा खरीदते समय ध्यान दें की टैबलेट (Tablet) का पैक पहले खुला ना हो।
  7. सेप्टिलिन टेबलेट को लेते समय शराब का सेवन न करें।
  8. सेप्टिलिन टेबलेट की ओवरडोज स्थिति में आप इसे लेना बंद कर दें और तुरंत नजदीकी चिकित्सा या डॉक्टर से सलाह परामर्श करें।

Conclusion

दोस्तों आशा करता हूं आपको Septilin tablet uses in hindi जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी अगर इसके रिलेटेड आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमे comment बॉक्स मे पूछ सकते है जानकारी अच्छी लगने पर शेयर जरूर करें।

Disclaimer

Note:- हमारी वेबसाइट Aksmartsupport.com में विभिन्न चिकित्सा स्थितियों और उनके उपचार से संबंधित सामान्य जानकारी प्रदान करती है।और ऐसी जानकारी केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए प्रदान की जाती है और इसका मतलब डॉक्टर या अन्य योग्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा प्रदान की गई सलाह का विकल्प नहीं है। मरीजों को यहां निहित जानकारी का उपयोग हीथ या फिटनेस समस्या या बीमारी के निदान के लिए नहीं करना चाहिए। निदान और उपचार के बारे में चिकित्सीय सलाह या जानकारी के लिए मरीजों को हमेशा डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श लेना चाहिए।

Leave a Comment