Web Hosting Kya Hai – Types of Web Hosting in Hindi

Web hosting kya hai – types of Web hosting?

दोस्तों अगर आप वर्डप्रेस या ब्लॉगर पर एक प्रोफेशनल website बनाने कि सोच रहे है तो आपको domain name और hosting service के बारे मे जानकारी होना बहुत जरूरी है। (Web hosting meaning in hindi)



दोस्तों आज हम बात करने बाले है होस्टिंग सर्विस के बारे मे web hosting kya hai | web hosting  meaning in hindi के बारे मे

आपको complete जानकारी देने बाला हु web hosting क्या होती है इससे पहले यह जानना जरूरी है hosting क्या है।

Hosting क्या है – web hosting meaning in hindi?



मान लीजिये आप कोई बिज़नेस करते है और वहा पर आपको जरूरत है आपके सामान को store करने कि अगर आप आपने बिज़नेस के लिए कोई भी सामान खरीदेगे।

तो आपको उसे कही ना कही तो रखना होगा  इसी तहरा से इंटरनेट पर भी जब आप कोई file upload करते है तो वह file कही ना कही जाकर सेव होती है। (Web hosting meaning in hindi)

आपने देखा होगा गूगल पर बहुत सारे फोटो अपलोड करते है या यूट्यूब पर भी वीडियोस अपलोड करते है।

तो अब फोटो और वीडियोस कही ना कही किसी ना किसी कंप्यूटर मे जाकर सेव होते है और यह फोटो और वीडियोस जो कही पर save होते है।

वह कंप्यूटर host computer कहलाता है जो कम्पनीज host कंप्यूटर मे आपकी फाइल्स को सुरक्षित रखने कि सुबिधा देती है। (Web hosting kya hai)

वह कम्पनीज web होस्टिंग कम्पनीज कहलाती है और वह जो सर्विस है web होस्टिंग कहलाती है।



जिस भी कंप्यूटर को वेबहोस्टिंग से जौडा जाता हैवह कंप्यूटर 24 हॉर्स ऑन रहता है और वह 24 hours इंटरनेट से जुडा रहता है। ( वेब होस्टिंग क्या हैँ)

इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा network है ददुनिया के सारे कंप्यूटर सारे डिवाइसस आपको मोबाइल phones बहुत सारी चीजे इंटरनेट से जुडी हुई है।

आपने देखा होगा जब आप अपने घर मे या ऑफिस मे दो कम्प्यूटर्स को नेटवर्क्स से जोड़ते है तो वहा भी आप फ़ाइल शेयरिंग कर पाते है। (What is web hosting in hindi)

यह शेयरिंग प्राइवेट शेयरिंग होती है लेकिन जब बात करते है वेबसाइट कि जो आपकी वेबसाइट होस्ट होती है।

वह hosting public होस्टिंग होती है कोई भी उन होटिंग पर अपलोडेड फाइलो को एक्सेस कर सकता है। (वेब होस्टिंग क्या हैँ )

जैसे आप मेरी वेबसाइट को ओपन कर के उसके सारे pages देख सकते है वही आप प्राइवेट नेटवर्क पर अपलोडड files को नही देख सकते और public नेटवर्क पर अपलोडड files को आप बड़ी आसानी से देख सकते है।

ऐसे कंप्यूटर को वेब सर्वर कहते है यह web server 365 दिन और 23 घंटे ऑन रहते है।


Hosting service कैसे काम करती है?

जो भी computer आपको web hosting service देते है वह आपके डाटा को हाई हाई स्पीड कंप्यूटर पर अपलोड करके रखता है।

जब कोई व्यक्ति घर बैठकर वेबसाइट का url या domain टाइप करता है अगर आप aksmartsupport टाइप करेंगे।

तो यह request इंटरनेट के माध्यम से web होस्टिंग सर्विस सर्वर तक पहुंचाती है और वहा से वह सर्वर website का जो भी पेज अपने search किया होगा उस पेज कि एक कॉपी आपके कंप्यूटर तक पहुंचाती है।

अब आपके मान मे यह सवाल चल रहा होगा कि क्या ममेरा कंप्यूटर एक  होस्टिंग computer बन सकता है क्या मै अपने कंप्यूटर को एक web server बना सकता हु।

हाँ आप अपने computer को भी एक web सर्वर बना सकते है क्या आप अपने कंप्यूटर को 24 घंटे ऑन रख पाएगे।

24 घंटे अपने कंप्यूटर को इंटरनेट से कनेक्ट रख पाएंगे अगर आप ऐसा कर सकते है तो आप अपने कंप्यूटर को एक web सर्वर बना सकते है।

और इससे बहुत सारा नुकसान भी होता है जैसे आपके कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम किसी बजह  से करपट हो जाता है।

आपका जो डाटा है (loss)नष्ट हो सकता है अगर किसी बजह से आपका कंप्यूटर बंद होता है तो जिन लोगो कि website आपके कंप्यूटर पर चल रही है वह बंद हो सकती है।

अपने कंप्यूटर को एक web होस्ट बनाना ठीक नही रहेगा सबसे अच्छा तरिका रहेगा आप किसी वेब होस्टिंग सर्वस कमपनी से होस्टिंग सर्विस खरीदे और अपनी वेबसाइट को वही पर ले जाए।


Web hosting कितने प्रकार कि होती है – Types of web होस्टिंग

ऑपरेटिंग सिस्टम  के हिसाब से होस्टिंग दो प्रकार कि होती है।

  1. Linux hosting service
  2. Windows hosting service

Linux hosting service

Linux hosting service:- जब आप होस्टिंग सर्विस लेते है आपको एक कंप्यूटर पर होस्टिंग सर्विस दि जाती है आपकी files अपलोड कि जाती है।

बिना operating system के कंप्यूटर नही चल सकता जिन कम्प्यूटर्स पर linux कंप्यूटर सिस्टम इनस्टॉल रहता है वह लिनुक्स होटिंग सर्विस कहलाती है

Windows hosting service

Windows hosting service:- जिन कम्प्यूटर्स पर विंडोज install रहती है वह विंडोज hosting सर्विस कहलाती है।

अब जानते है इन दोनों मे क्या अंतर है इन दोनों के बीच मे किमत का अंतर है क्योंकि लिनुक्स सॉफ्टवेयर जो है ओपन सौर्स software है।

उसको कोई भी Save कर सकता है जैसे कि एंड्राइड है तो वह सभी के लिए फ्री है जो hosting सर्विस होती है वह बहुत कम किमत कि होती है विंडोज के मुकाबले।

और वही विंडोज को खरीदने के लिए कंपनी को लाइसेंस खरीदना पड़ता है आपकी होस्टिंग सर्विस मे लाइसेंस कि किमत ऐड हो जाती है।

Linux के मुकाबले जो विंडोज होस्टिंग सर्विस होती है वह महंगी होती है इसलिए बहुत सारी blog और वेबसाइट लिनुक्स होस्टिंग पर ही बनाये जाते है

Web hosting services चार प्रकार कि होती है

Website builder

Website builder:- जिन्हे टेकनिकल नॉलेज क़ी कमी होती है और बिना किसी ऑडिशनल सेटअप के होटिंग प्रोवाइड करती है।

Shared Hosting

Shared Hosting:- इसमें एक से ज्यादा website ओनर एक service को शेयर करता है

Dedicated hosting

Dedicated hosting:- Dedicated hosting मे एक से ज्यादा website owner एक service को शेयर करते है

Collocated hosting

Collocated hosting:- इस तरह क़ी होस्टिंग मे किसी का शेयर नही होता है सभी रिसोर्सस का फग जुटीलाइज़ करते है।

इस टाइप क़ी होस्टिंग मे आप अपना server परचेस कर सकते है यह तहरा के web सर्वर मे आपके पास सर्वर का पूरा control होता है।

Leave a Comment